महात्मा गांधी की मृत्यु कब हुई थी।

Mahatma Gandhi ki maut kab hui : भारत में जो रहते है वो यह तो जानते है का जन्म कब हुआ था परन्तु यह बहुत ही कम जानते है महात्मा गांधी की मृत्यु कब हुई थी। आइये जानते है।
महात्मा गांधी की मृत्यु
महात्मा गाँधी की मृत्यु (मौत) 30 जनवरी 1948 को हुई थी।
महात्मा गाँधी जी (Mahatma Gandhi) की हत्या का जिम्मेदार नाथूराम गोडसे था और वो गांधी जी को भारत को कमज़ोर करने का दोषी मानता था। क्योंकि उन्होंने पाकिस्तान को 55 करोड़ का भुगतान किया था।

Mahatma Gandhi जब 30 जनवरी 1948 को रात्रि में दिल्ली के बिरला भवन में घूम रहे थे उस समय नाथूराम गोडसे ने गोली मारकर उनकी हत्या कर दी। नवम्बर 1949 में नाथूराम गोडसे तथा उसके सहयोगी को भी फांसी दे दी गयी। महात्मा गांधी देश के ऐसे नेता थे जिन्होंने बिना शस्त्र उठाये अंग्रेजों को इस देश से बाहर कर दिया। अपने परिवार को त्याग कर संपूर्ण जीवन उन्होंने देश के हित के लिए लड़ाई लड़ी तथा अंत में देश के हित के लिए ही शहीद (मृत्यु) हो गए। इनका संपूर्ण जीवन तथा जीवनी भारत के सभी आयु वर्ग के लोगों के लिए प्रेरणादायक बन गया।

महात्मा गांधी जी की राख को एक अस्थि-रख दिया गया और उनकी सेवाओं की याद दिलाने के लिए संपूर्ण भारत में ले जाया गया। इनमें से अधिकांश को इलाहाबाद में संगम पर 12 फरवरी 1948 को जल में विसर्जित कर दिया गया किंतु कुछ को अलग पवित्र रूप में रख दिया गया।

Updated: January 25, 2019 — 10:14 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

kya hai © 2019