महात्मा गांधी के बेटे का नाम क्या था

Mahatma Gandhi Ke Bete Ka Naam : महात्मा गांधी के बेटे का क्या नाम था। इस प्रश्न का उत्तर बहुत ही कम को पता होता है। आज हम आपको इस प्रश्न का उत्तर बता रहे है। महात्मा गांधी की कितनी संतान थी और उनके कितने बेटे थे। महात्मा गांधी के बेटा का क्या नाम था।
mahatma gandhi ke bete ka naam
1885 में महात्मा गांधी की पहली सन्तान ने जन्म लिया। लेकिन वह केवल कुछ दिन जीवित रही।
मोहनदास (महात्मा गांधी) और कस्तूरबा के चार सन्तान हुईं जो सभी बेटे थे।

  • महात्मा गांधी की पहली संतान के रूप में हरीलाल गांधी का जन्म 23 अगस्त 1888 को हुआ था।
  • महात्मा गांधी की दूसरे बेटे का नाम मणिलाल गान्धी था। मणिलाल गांधी का जन्म 28 अक्तूबर 1892 को हुआ था।
  • तीसरे बेटे रामदास गांधी था। इसका जन्म 1897,  में नटाल कॉलोनी में हुआ था।
  • चौथे बैठे देवदास गांधी था। यह 1900 में जन्म हुआ था।

हरिलाल गांधी (1888-1948)
महात्मा गांधी जी के सबसे बड़े पुत्र हरिलाल इंग्लैण्ड से वकालत करना चाहते थे, लेकिन गांधी जी ने विरोध किया। गांधी मानते थे कि अंग्रेजी पद्धति की शिक्षा से भारतीय आंदोलन में कोई खास मदद नहीं मिलेगी। इस कारण हरिलाल विद्रोही हो गए, 23 की उम्र में हरिलाल ने अपना घर छोड़ दिया। महात्मा गांधी से परेशान होकर परेशान करने के लिए इस्लाम धर्म कबूल कर लिया था। हरिलाल के जीवन पर ‘गांधी माई फादर’ नाम की फिल्म भी बनी थी।

मणिलाल गांधी (1892-1956)
यह महात्मा गांधी का दूसरा पुत्र था। मणिलाल गांधी ने अपने जीवनकाल में मुख्यतौर पर प्रेस का काम किया। गांधी तो भारत लौट आए, लेकिन मणिलाल दक्षिण अफ्रीका में ही रह गए। उन्होंने वहां गांधी आश्रम फिनिक्स फार्म को किसी तरह से संभाला। मणिलाल के चरित्र कारण महात्मा गांधी जी उनसे खुश नहीं रहते थे। भारत आजाद होने के बाद में मणिलाल पिता से मिलने भारत आए थे और अपने तीखे उलाहनों से उन्हें परेशान भी किया था। मणिलाल गांधी ने दक्षिण अफ्रीका में ‘इंडियन ओपिनियन’ अंग्रेजी-गुजराती पत्रिका में वर्ष 1917 से काम शुरू किया। 1920 में उक्त पत्रिका के संपादक बने और मृत्यु तक इस पद पर रहे।
Put your ads code here
रामदास गांधी (1896-1969)
यह महात्मा गांधी के तीसरे बेटा था। यह महात्मा गांधी के तीसरे पुत्र का नाम रामदास पिता के सच्चे भक्त थे। यह महात्मा गांधी जीउन्होंने कभी भी पिता को नाराज करने वाले काम नहीं किया। mahatma gandhi , रामदास को अपना सबसे अच्छा बेटा कहते थे। रामदास ने स्वतंत्रता आंदोलन में भी भाग लिया, रामदास को भी कई बार जेल में जाना पड़ा।

देवदास गांधी (1900-1957)
महात्मा गांधी के चौथे बेटे का नाम देवदास था। देवदास गांधी का जन्म, दक्षिण अफ्रीका में हुआ था और यह बड़े होने के बाद में भारत आए थे। गांधी जी के बेटों में ये सबसे ज्यादा पढ़े-लिखे थे। इन्होंने भी स्वतंत्रता आंदोलन में हिस्सा लिया और जेल भी गए। देवदास गांधी अपने समय के प्रतिष्ठित पत्रकार थे। यह हिन्दुस्तान टाइम्स के संपादक भी हुए।

Updated: January 25, 2019 — 5:01 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

kya hai © 2019